10 लाख की प्रतिबंधित करंसी के साथ 3 लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

  • 10 लाख की प्रतिबंधित करंसी के साथ 3 लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार
You Are Here
10 लाख की प्रतिबंधित करंसी के साथ 3 लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार10 लाख की प्रतिबंधित करंसी के साथ 3 लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार10 लाख की प्रतिबंधित करंसी के साथ 3 लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

वाराणसी(केएन शुक्ला): 1000 और 500 की पुरानी करेंसी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 8 नवंबर 2016 को प्रतिबंधित कर दिया गया है। इसके बावजूद आज प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में प्रतिबंधित 1000 और 500 की 10 लाख मूल्य की नोट के साथ तीन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पहाडिय़ा से पकड़े गये इन लोगों के पास ये बंद हो चुके नोट कहां से आये और ये इसे कहां ले जा रहे थे इस बारे में पुलिस मुकदमा दर्जकर आयकर विभाग और प्रवर्तन निदेशालय को रिपोर्ट भेज रही है। वहीं पकड़ा गया एक युवक दरोगा भर्ती की तैयारी कर रहा है और उसके पिता भी दरोगा के पद से रिटायर्ड हुए हैं। 

घटना का खुलासा करते एसएसपी रामकृष्ण भारद्वाज ने बताया कि अपराध पर नियंत्रण के लिए पूरे जिले में अभियान चलाया जा रहा है। इसी अभियान के तहत सारनाथ थानाध्यक्ष अखिलेश कुमार मिश्र पहाडिय़ा चौराहे पर चेकिंग कर रहे थे। उसी समय मुखबिर द्वारा पता चला कि कुछ लोग शिवपुर की तरफ से अवैध करेंसी लेकर आ रहें। उनके पास पिछले साल ही बंद हो चुकी 500 और 1000 की नोट है।

मुखबिर की सूचना पर चेकिंग के दौरान एक स्कूटी पर सवार तीन संदिग्ध व्यक्तियों को रोका गया। जिनके पास से चेकिंग के दौरान 500 के 1930 पुराने नोट (कुल 9,65000 रूपये) और 1000 के 35 पुराने नोट (35000 रूपये) बरामद किये हैं। पकड़े गये युवक दशरथ निवासी मौर पेतरा थाना सासाराम जिला रोहतास, अशोक निवासी रोशनपुर, थाना तरवां, जिला आज़मगढ़ एवं महेश प्रसाद निवासी महुआरी थाना सिवान जिला सिवान इस पैसे के बारे में कुछ भी सही जानकारी नहीं दे पाएं है। वे सिर्फ इतना बता रहे हैं कि हम लोग यह नोट बदली के लिए ले गए थे पर नोट बदले न जाने से हम इसे वापस लेकर जा रहे हैं।

आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज 
एसएसपी रामकृष्ण भारद्वाज ने बताया कि प्रथम दृष्टया यह मामला प्रतीत होता है कि उक्त रूपये अपराध कारित कर अर्जित किये गए हैं तथा जनता से धोखाधड़ी करते हुए बैंक से बदलने का प्रयास किया जा रहा है। फिलहाल हमने इस संबंध में आईपीसी की धारा 41/411/413/414/420 के तहत मुकदमा पंजीकृत कर आयकर विभाग और प्रवर्तन निदेशालय को रिपोर्ट भेजी जा रही है। पुलिस ने इनके पास से 10 लाख नकद समेत तीन मोबाइल और एक स्कूटी भी बरामद की गयी हैं।

दरोगा भर्ती की तैयारी कर रहा है आरोपी
पकड़ा गया एक युवक आजमगढ़ निवासी अशोक बनारस के सीर गोवर्धन इलाके के रविदास मंदिर के पास एक किराए के मकान में रहकर दरोगा भर्ती की तैयारी कर रहा है। अशोक ने बताया कि वह बनारस में सरकारी नौकरी की परीक्षाओं की तैयारी कर रहा है। उसका दरोगा भर्ती का 23 जुलाई को एग्जाम भी है। अशोक ने कहा कि कुछ पैसों के लालच में केशव और विवेक के कहने पर यह किया है। अशोक के पिता रामसुंदर भी झारखण्ड पुलिस में दारोगा के पद से रिटायर्ड हुए हैं। 
 



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You