Subscribe Now!

नोटबंदी से टूट चुका है सब्र का बांध, लोगों को अब चुनाव का इंतजार: शिवपाल

  • नोटबंदी से टूट चुका है सब्र का बांध, लोगों को अब चुनाव का इंतजार: शिवपाल
You Are Here
नोटबंदी से टूट चुका है सब्र का बांध, लोगों को अब चुनाव का इंतजार: शिवपालनोटबंदी से टूट चुका है सब्र का बांध, लोगों को अब चुनाव का इंतजार: शिवपालनोटबंदी से टूट चुका है सब्र का बांध, लोगों को अब चुनाव का इंतजार: शिवपाल

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने आज कहा कि बैंकों और एटीएम के सामने कतार में लगे लोगों के सब्र का बांध अब टूट चुका है और गुस्से से भरे लोगों को अब नकदी नहीं बल्कि चुनाव का इंतजार है। 

शिवपाल ने एक बयान में कहा, ‘‘नोटबंदी का फैसला लागू हुए एक माह से ज्यादा का समय बीत चुका है लेकिन हालात सुधरने की बजाए और भी ज्यादा बदतर हो गये हैं। नौकरीपेशा, किसान, मजदूर और व्यापारी अपना-अपना काम छोड़कर बैंकों और एटीएम के सामने अपने पैसे निकालने के लिए कतारों में लगे हैं।’’ 

उन्होंने कहा कि लाखों दिहाड़ी मजदूर काम ना मिलने के कारण बेरोजगार हो चुके हैं। हजारों की तादाद में मजदूर शहरों में काम ना मिलने के कारण अपने-अपने गांव लौट चुके हैं लेकिन उन्हें गांव में भी कोई रोजगार नहीं मिल रहा है क्योंकि गांव में तो खेती तक के लिए किसानों के पास पैसे ही नहीं है।

UP Political News की अन्य खबरें पढ़ने के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें




अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन