सैफई की तर्ज पर मोदी और योगी देश के हर गांव का करें विकास: अखिलेश

  • सैफई की तर्ज पर मोदी और योगी देश के हर गांव का करें विकास: अखिलेश
You Are Here
सैफई की तर्ज पर मोदी और योगी देश के हर गांव का करें विकास: अखिलेशसैफई की तर्ज पर मोदी और योगी देश के हर गांव का करें विकास: अखिलेशसैफई की तर्ज पर मोदी और योगी देश के हर गांव का करें विकास: अखिलेश

इटावा: समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी पर तंज कसते हुये कहा कि उनके गृहनगर सैफई के विकास पर नाराजगी व्यक्त करने की बजाय भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के लोगों को इसे नजीर मानकर देश के हर गांव को विकसित करने का लक्ष्य निर्धारित करना चाहिए। 

अखिलेश यादव ने कहा, ‘मंैने प्रधानमंत्री मोदी का एक भाषण सुना जिसमें वह कह रहे हैं कि समाजवादी पार्टी (सपा) ने अपने कार्यकाल में सारे काम सैफई के लिये ही किये हैं। मेरा सवाल है कि आखिर देश का प्रधानमंत्री एक गांव के लिये इतना परेशान क्यों है।’ अखिलेश यादव ने कहा, ‘मैं प्रधानमंत्री मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से कहना चाहता हूं कि आपके हाथ में केन्द्र और प्रदेश की सत्ता है। सारे देश और प्रदेश के गांवों को सैफई जैसा बना दो किसने आप को ऐसा करने से रोका है, लेकिन कम से कम सैफई के विकास पर सवाल तो न उठायें।’

अखिलेश यादव ने कहा, ‘इस समय देश में स्मार्ट सिटी बनाये जाने की कवायद चल रही है। ऐसे में स्मार्ट गांव की बात करें तो सैफई से स्मार्ट कोई दूसरा गॉंव पूरे देश में इस समय नही होगा। सैफई में आने वाले वक्त में साईकिल से आप कहीं भी जा सकते है, हमने ऐसा प्रबन्ध किया हुआ है ।’ उन्होंने कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था तो लोगों को दिखाई दे रही है। सर्राफा वालो के साथ सबसे अधिक घटनाए उतर प्रदेश में हो रही हैं। सर्राफा कारोबारियो पर हमले हो रहे हैं। मथुरा की घटना अभी लोगों के जहन से उतरी भी नही थी कि अचानक मैनपुरी की घटना से सभी को हिला कर रख दिया है।

पूर्व मुख्यमंत्री ने जालौन में उरई की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि ऐसी घटनाए बेहद ङ्क्षनदनीय है सरकार ऐसी घटनाओं को रोक पाने की स्थिति मे नहीं है। इलाहाबाद, नोयडा और जेवर की घटनाएं इसी ओर इशारा कर रही है कि उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था किस ओर जा रही है। अखिलेश यादव ने आलू किसानो की बरबादी का जिक्र करते हुए कहा कि भाजपा सरकार ने किसानों को धोखा दिया। आलू किसानो के लिये जो वायदा किया था वो पूरा नही किया। बूचडख़ानों को बंद करने और उसमें मुस्लिमों को बदनाम करने का काम किया। बूचडखाने में हिन्दू भी काम कर रहे हैं। अगर देखा जाए तो बूचडख़ानों के मालिकों में सबसे अधिक भाजपा के नेता ही हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री ने सपा को मजबूत करने का मंत्र देते हुए कहा, ‘अगर आपने बूथ को जीता लिया तो आपकी पार्टी बहुत मजबूत दिखाई देगी। यदि आप लोग अपने बूथ को नही जिता पाए तो तो कुछ नहीं होगा। 2019 का संसदीय चुनाव बेहद महत्वपूर्ण होने वाला है क्योंकि आपके सामने ऐसी चुनौती है कि एक ओर वह दल होगा जो लोगों को बहला कर वोट हासिल करना चाहता एक तरफ वह दल होगा जिसे आप समाजवादी कहते हैं।’ 

अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी आपका भला चाहता है, इसलिए किसानों का भला चाहते हो तो 2019 का संसदीय चुनाव जीतना जरूरी है। उन्होंने कहा कि अब प्रधानमंत्री वही बनेगा जो उत्तर प्रदेश चाहेगा। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने 23 महीने मे देश के सबसे बडे आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे का निर्माण करवा दिया। उन्होंने योगी की अगुवाई वाली भाजपा की सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि योगी सरकार 22 महीने से लखनऊ बलिया एक्सप्रेस का ही निर्माण करवा के दिखा दे, अगर ऐसा होता है तो यह हमारे लिए किसी भी चुनौती से कम नही होगी। 

UP HINDI NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!