अयोध्या विवाद पर समझौते की बैठक विफल, नाराज होकर चले गए इकबाल अंसारी

  • अयोध्या विवाद पर समझौते की बैठक विफल, नाराज होकर चले गए इकबाल अंसारी
You Are Here
अयोध्या विवाद पर समझौते की बैठक विफल, नाराज होकर चले गए इकबाल अंसारीअयोध्या विवाद पर समझौते की बैठक विफल, नाराज होकर चले गए इकबाल अंसारीअयोध्या विवाद पर समझौते की बैठक विफल, नाराज होकर चले गए इकबाल अंसारी

अयोध्याः राम मंदिर विवाद को सुलझाने के लिए चल रही बातचीत को रविवार करारा झटका लगा है। सुलह का फार्मूला सामने आते ही बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी नाराज हो गए और अयोध्या में हो रही हिन्दू-मुस्लिम की सौहार्दपूर्ण बैठक बीच में ही छोड़कर चले गए।

रिजवी के इस बयान से अंसारी हुए नाराज 
बता दें शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी ने इस बैठक में फार्मूला दिया था कि मुस्लिम अब अयोध्या में कोई नई मस्जिद का निर्माण नहीं चाहते हैं। रिज़वी ने कहा कि अयोध्या मंदिरों का शहर है और यहां किसी प्रकार की नई मस्जिद की जरुरत नहीं है। मस्जिद फैजाबाद व अयोध्या के बाहर ही बननी चाहिए। उनका कहना था कि जो लोग इस बात का विरोध करते हैं वो देशद्रोही हैं। रिजवी का यह भी कहना था कि सुन्नी वक्फ बोर्ड अगर इस फैसले पर सहमति देता है तो स्वागत है वरना हमें उनकी जरूरत नहीं है।

केवल संत-धर्माचार्यों से होगी बात
वहीं बाबरी मस्जिद मामले के पक्षकार इक़बाल अंसारी ने वसीम रिजवी के प्रयास को पूरी तरह से खारिज करते हुए कहा कि अब वे ऐसी किसी भी बैठक में भाग नहीं लेंगे।उन्होंने साफ किया कि सुलह-समझौते के मुद्दे पर केवल अयोध्या के संत-धर्माचार्यों से ही बात करेंगे, लेकिन वसीम रिज़वी से नहीं। क्योंकि इस मसले पर वसीम रिज़वी का कोई लेनादेना नहीं है। ऐसे में वसीम रिज़वी के द्वारा बुलाई गई बैठक बिना किसी निर्णायक फैसले के पहले ही खत्म हो गई।

वैसे सौहार्दपूर्ण हल निकालने के लिए हुई यह बैठक अधूरी भी थी। क्योंकि तीन प्रमुख पक्षकार निर्मोही अखाड़ा, राम लला विराजमान व मुस्लिम पक्षकार नहीं थे। केवल मुस्लिम पक्ष इकबाल अंसारी थे जो थोड़ी ही देर बाद नाराज हो गए।


 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!