मेडिकल कालेज के प्रिंसिपल को बलि का बकरा बना जिम्मेदारी से ना भागे यूपी सरकार: मायावती

  • मेडिकल कालेज के प्रिंसिपल को बलि का बकरा बना जिम्मेदारी से ना भागे यूपी सरकार: मायावती
You Are Here
मेडिकल कालेज के प्रिंसिपल को बलि का बकरा बना जिम्मेदारी से ना भागे यूपी सरकार: मायावतीमेडिकल कालेज के प्रिंसिपल को बलि का बकरा बना जिम्मेदारी से ना भागे यूपी सरकार: मायावतीमेडिकल कालेज के प्रिंसिपल को बलि का बकरा बना जिम्मेदारी से ना भागे यूपी सरकार: मायावती

लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी(बसपा) अध्यक्ष एवं उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह के बयान ‘अगस्त के महीने में काफी बच्चों की मौत होती है’ की निन्दा करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को इस मामले में सख्त रूख अपनना चाहिए।

स्वास्थ्य मंत्री का बयान बेहद दु:खद
मायावती ने आज यहां जारी बयान में कहा कि गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कालेज में सरकार की लापरवाही के कारण पिछले दिनों 60 से अधिक बच्चों की मौत हो गयी थी। इस मामले में प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री का यह बयान कि ‘‘अगस्त के महीने में काफी बच्चों की मौत होती है’’, अत्यन्त दु:खद, संवेदनहीन व गैर जिम्मेदाराना है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त रुख अपनाना चाहिए। इस गंभीर घटना के लिये प्रथम ²ष्टया दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए।

दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई नहीं करते सीएम योगी
उन्होंने कहा कि योगी दोषियों के खिलाफ कोई सख्त कार्रवाई नहीं करते हैं, इसलिये प्रदेश में अपराधिक घटनायें रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। प्रदेश सरकार अपराध-नियन्त्रण व कानून-व्यवस्था के साथ-साथ स्वास्थ्य, शिक्षा व सुरक्षा जैसे आवश्यक बुनियादी जनसेवा के मामले में भी फिसड्डी साबित हुई है। 

प्रिन्सिपल को बलि का बकरा बना रही सरकार
मायावती ने कहा कि गोरखपुर के ही बच्चों के मौत के लापरवाही के मामले में मेडिकल कालेज के प्रिन्सिपल को बलि का बकरा बनाकर प्रदेश सरकार ने अपनी जिम्मेदारी से भागने का ही प्रयास किया है। पीड़ित परिवारों को न्याय दिलाने की आवश्यकता है। इस मामले में तत्काल सख्त से सख्त कदम उठाये जाने चाहिए। दुर्भाग्यपूर्ण घटना के संबंध में केवल लीपापोती करने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा के सांसद स्वयं कह रहे हैं कि गोरखपुर में बच्चों का ‘नरसंहार’ किया गया है। यह सरकारी लापरवाही के साथ-साथ विभागीय भ्रष्टाचार का भी मामला है।



UP POLITICAL NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You