योगीराज में श्रद्धालुओं के साथ साथ मंदिर भी नहीं सुरक्षित

  • योगीराज में श्रद्धालुओं के साथ साथ मंदिर भी नहीं सुरक्षित
You Are Here
योगीराज में श्रद्धालुओं के साथ साथ मंदिर भी नहीं सुरक्षितयोगीराज में श्रद्धालुओं के साथ साथ मंदिर भी नहीं सुरक्षितयोगीराज में श्रद्धालुओं के साथ साथ मंदिर भी नहीं सुरक्षित

मऊ(जाहिद इमाम): उत्तर प्रदेश के योगी सरकार में अब मंदिर भी सुरक्षित नहीं हैं। अभी दो दिन पहले कोपागंज के मंदिर से चोरों ने वहां की अष्टधातु कि मूर्तियों पर हाथ साफ किया था। अब रानीपुर के शिव मंदिर की 4 अष्टधातु कि मूर्तियों को उड़ा ले गए। वहीं रानीपुर के शिव मंदिर आने वाली महिला श्रद्धालुओं से चैन स्नेचिंग की घटना आम हो गई है। आलम यह है कि रोजाना मंदिर जाने वाले श्रद्धालु भी अब मंदिर में जाने से डर रहे हैं।

श्रद्धालु पुनीत जायसवाल का कहना है कि प्रदेश में बीजेपी कि सरकार होने के बाद भी मंदिरों की सुरक्षा पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। मंदिर के बाहर पुलिस और सुरक्षा कर्मियों को लगाया जाना चाहिए। जिससे मंदिर में आये भक्तों की पॉकेटमारी और चेन स्नेचिंग कि घटनाओं को रोका जा सके। 

वहीं पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव का कहना है कि मीडिया के लोगों के माध्यम से मामला संज्ञान ने आया है। सभी प्राचीन एवं अष्टधातु कि मुर्तियों वाली मंदिर के आस पास सुरक्षा व्यवस्था लगाई जाएगी। कोपागंज के पौराणिक मंदिर की चोरी हुई सभी मूर्तियों को जल्द से जल्द ढूढ़ लिया जायेगा। डॉयल 100 की एक-एक गाड़ी सभी प्राचीन मंदिरों के बाहर लगाया जायेगा जिससे लूट और चोरी कि घटनाओं पर रोक लग सके। 

UP NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!