BHU के सिंह द्वार पर लड़कियाें का प्रर्दशन जारी, चीफ प्रॉक्टर ने कहा- धरना राजनीतिक से प्रेरित

  • BHU के सिंह द्वार पर लड़कियाें का प्रर्दशन जारी, चीफ प्रॉक्टर ने कहा- धरना राजनीतिक से प्रेरित
You Are Here
BHU के सिंह द्वार पर लड़कियाें का प्रर्दशन जारी, चीफ प्रॉक्टर ने कहा- धरना राजनीतिक से प्रेरितBHU के सिंह द्वार पर लड़कियाें का प्रर्दशन जारी, चीफ प्रॉक्टर ने कहा- धरना राजनीतिक से प्रेरितBHU के सिंह द्वार पर लड़कियाें का प्रर्दशन जारी, चीफ प्रॉक्टर ने कहा- धरना राजनीतिक से प्रेरित

वाराणसी(केएन शुक्ला): दुनिया काे धर्म, संस्कृति और शिक्षा का पाठ पढ़ाने वाला विश्व प्रसिद्ध बनारस हिंदू विश्वविद्यालय ( BHU) इस समय चर्चा और विवादों का विषय बना हुआ है।

दरअसल बीते 21 सितम्बर की देर शाम कैम्पस के अंदर एक छात्रा के साथ किसी अज्ञात असामाजिक तत्व ने छेड़छाड़ किया। जिसकी शिकायत पीड़िता ने विश्वविद्यालय प्रशासन से की। आराेपी के खिलाफ कार्रवाई की बजाए प्रशासन ने पीड़िता काे ही शाम 6 बजे के बाद कैम्पस से बाहर न निकलने का अजीबाेगरीब फरमान सुना दिया। फिर क्या था छात्राआें के साथ आए दिन खूब छेड़छाड़ की घटनाएं सामने आने लगीं। लगातार घट रही छेड़छाड़ की घटनाआें से परेशान छात्राओं का गुस्सा प्रधानमंत्री के आगमन के दिन से ही विस्फोटक रूप ले लिया है। छात्राएं शुक्रवार की सुबह से ही सड़क पर उतरकर विरोध प्रदर्शन कर रही हैं। जिसके कारण प्रधानमंत्री काे भी पतली गल पकड़कर निकलना पड़ा। 

WE WANT JUSTICE का नारा बुलंद कर रहीं छात्राएं
BHU के मुख्य द्वार पर बैठी सैकड़ों छात्राएं WE WANT JUSTICE का नारा बुलंद कर रही हैं। इन छात्राओं की मांग है कि BHU के कुलपति आकर उन्हें सुरक्षा की गारंटी दें ताकि विश्वविद्यालय के अंदर बिना भेदभाव के हम अपनी शिक्षा पूरी कर सकें। इन छात्राओं का आरोप है कि विश्वविद्यालय कैम्पस में रोज छात्राओं के साथ छेड़छाड़ होता है। जब भी सुरक्षाकर्मियों से इसकी शिकायत की जाती है तो प्राक्टोरियल के अधिकारी एवं कर्मचारी शिकायत करने वाली छात्राओं को ही हॉस्टल के कमरों में बंद रहने की सलाह देकर भद्दी-भद्दी बातें करते हैं।  

छात्राओं का धरना राजनीतिक से प्रेरित-BHU PRO 
छात्राओं के आरोप पर जब विश्वविद्यालय प्रशासन से बात की गई तो BHU के PRO राजेश सिंह ने छात्राओं को सुरक्षा देने की बजाए राजनीति से प्रेरित बताकर प्रधानमंत्री के बेटी बचाआे-बेटी पढ़ाओ नारे की ही हवा निकाल दी। 

धरना राष्ट्र विरोधी राजनीतिक दलों के द्वारा प्रेरित
राजेश सिंह ने आराेप लगाते हुए कहा कि छात्राओं का धरना राष्ट्र विरोधी राजनीतिक दलों के द्वारा प्रेरित और प्रायोजित है। अचानक एक खबर आई कि एक छात्रा के साथ छेड़छाड़ हुई है। इस मामले की जांच विश्वविद्यालय कर ही रहा था कि तब तक धरना शुरू हो गया। छात्राओं की सुरक्षा विश्वविद्यालय का विषय है इसके लिए विश्वविद्यालय कटिबद्ध और कृतसंकल्पित है। साथ ही कहा कि ये घटना पूरी तरीके से राजनीतिक रूप से प्रेरित और प्रायोजित है, इसमें बाहरी तत्व शामिल हुए हैं।

लड़की लोगों को भ्रमित करने का कर रही प्रयास-राजेश सिंह 
राजेश सिंह ने कहा कि मोदी जी के दौरे को देखते हुए प्रचार प्रसार के नियति से विश्वविद्यालय के नकारात्मक छवि को प्रसारित करने के लिए 80% बाहरीतत्व का काम है। वहीं लड़की के सिर मुंडवाने वाली बात पर कहा कि ये लड़की लोगों को भ्रमित करने का प्रयास कर रही है। इस लड़की के फेसबुक एकाउंट पर मई 2016 से लगातार सिर मुंड़वा रही है। सोखिया इस घटना को लेकर नहीं मुंड़वाई है।

मालवीय जी पर कालिख पोतने की कोशिश महामना का अपमान 
रात्रि 10 बजे के करीब सिंह द्वार पर लगे मालवीय जी पर कालिख पोतने की कोशिश की है जो की BHU ,राष्ट्र और महामना का अपमान है। 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!