Subscribe Now!

दिल्ली में PM से मिले UP के नवनिर्वाचित महापौर, ओखी के कारण रद्द हुआ गुजरात चुनाव प्रचार का प्लान

  • दिल्ली में PM से मिले UP के नवनिर्वाचित महापौर, ओखी के कारण रद्द हुआ गुजरात चुनाव प्रचार का प्लान
You Are Here
दिल्ली में PM से मिले UP के नवनिर्वाचित महापौर, ओखी के कारण रद्द हुआ गुजरात चुनाव प्रचार का प्लानदिल्ली में PM से मिले UP के नवनिर्वाचित महापौर, ओखी के कारण रद्द हुआ गुजरात चुनाव प्रचार का प्लानदिल्ली में PM से मिले UP के नवनिर्वाचित महापौर, ओखी के कारण रद्द हुआ गुजरात चुनाव प्रचार का प्लान

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के 14 नगर निगमों में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नव निर्वाचित महापौर प्रचंड समुद्री चक्रवात ओखी के कारण गुजरात विधानसभा चुनावों में पार्टी के प्रचार के लिए आज नहीं जा पाए।  

इन महापौरों ने यहां सात लोक कल्याण मार्ग स्थित प्रधानमंत्री निवास पर मोदी से मुलाकात की। इसके बाद इन्हें गुजरात विधानसभा चुनावों के लिये अहमदाबाद रवाना होना था। वे दोपहर तक प्रधानमंत्री निवास पर मौजूद थे। लेकिन मौसम के हालात ने उन्हें जाने नहीं दिया। इन महापौरों के साथ मौजूद राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष डॉ. महेन्द्र नाथ पाण्डेय को भी गुजरात जाना था। बाद में उनका प्रचार कार्यक्रम टाल दिया गया।  

उल्लेखनीय है कि महापौरों के साथ अमेठी नगर पंचायत अध्यक्ष चंद्रमा देवी एवं अमेठी जिले की जायस नगरपालिका परिषद के अध्यक्ष महेश प्रताप भी उपस्थित थे। उत्तर प्रदेश के नगरीय निकाय चुनाव में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। भाजपा ने महापौर की 16 में से 14 सीटें जीती हैं। भाजपा ने अयोध्या, वाराणसी, गोरखपुर, लखनऊ, कानपुर, आगरा, झांसी, इलाहाबाद, बरेली, मुरादाबाद, फिरोजाबाद, मथुरा, सहारनपुर और गाजियाबाद नगर निगमों में महापौर पद पर कब्जा किया है। 

सूत्रों ने बताया कि राज्य में भाजपा के सभी नवनिर्वाचित महापौर पार्टी के समर्पित कार्यकर्ता हैं और भाजपा को जहां जरूरत पड़ेगी, वहां उनका उपयोग करेगी। हालांकि कांग्रेस ने अमेठी नगर पंचायत अध्यक्ष पद के लिये अपना प्रत्याशी नहीं खड़ा किया था लेकिन वहां भाजपा की जीत को क्षेत्रीय कांग्रेस सांसद राहुल गांधी के लिये बड़ा झटका माना जा रहा है। 

कांग्रेस को जायस और गौरीगंज नगर पालिका अध्यक्ष पद के चुनाव में पराजय का सामना करना पड़ा। वहीं अमेठी और मुसाफिरखाना के नगर पंचायत के चुनाव में कांग्रेस ने अपना उमीदवार नहीं खड़ा किया था। गुजरात विधानसभा चुनाव की गहमागहमी के बीच नेहरू-गांधी परिवार के गढ़ में बीजेपी की जीत को बेहद महत्वपूर्ण और दूरगामी संदेश देने वाली माना जा रहा है।  

योगी आदित्यनाथ ने नगरीय निकाय चुनाव परिणामों को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की नीतियों का नतीजा करार दिया है। सूत्रों के अनुसार राज्य के नगरीय निकाय चुनाव में जीत को भाजपा गुजरात में भुनाना चाहती है। गुजरात में पूर्वी उत्तर प्रदेश के मूल बाशिंदों की खासी तादाद है। योगी आदित्यनाथ पहले से ही गुजरात में चुनाव प्रचार कर रहे हैं। पार्टी की योजना है कि इन नवनिर्वाचित मेयरों की कामयाबी के किस्सों से भाजपा के चुनावी अभियान को और धार दी जाये।  

सूत्रों ने बताया कि प्रधानमंत्री ने उत्तर प्रदेश में स्थानीय निकाय के चुनाव में भाजपा की जीत के लिए सभी को बधाई दी और उन्होंने उत्तर प्रदेश की जनता का आभार प्रकट करते हुए कहा कि केन्द्र एवं राज्य दोनों की सरकारें सुनियोजित नगरीय विकास करके नागरिकों के जीवन स्तर को ऊँचा उठाने और दैनिक सुविधाओं तक अंतिम व्यक्ति की पहुंच सुनिश्चित करने के लिए कटिबद्ध हैं। प्रधानमंत्री ने मुयमंत्री योगी आदित्यनाथ, उनकी सरकार और पार्टी संगठन को शुभकामनाएं देते हुए आह्वान किया कि वे जनता की अपेक्षाओं की पूर्ति के लिए सदैव कृतसंकल्पित रहें। 



UP BREAKING NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन