बसपा को अलग अलग संगठन बनाने की जरूरत नहीं: मायावती

  • बसपा को अलग अलग संगठन बनाने की जरूरत नहीं: मायावती
You Are Here
बसपा को अलग अलग संगठन बनाने की जरूरत नहीं: मायावतीबसपा को अलग अलग संगठन बनाने की जरूरत नहीं: मायावतीबसपा को अलग अलग संगठन बनाने की जरूरत नहीं: मायावती

लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती ने आज कहा कि पार्टी में हर धर्म, हर वर्ग, हर समाज, महिला, छात्र एवं युवा वर्ग आदि की भागीदारी है, जिस कारण इन वर्गों के लिए अलग से संगठन बनाने की जरूरत कभी महसूस नहीं की गयी। 

मायावती ने कहा कि बसपा एक राजनीतिक पार्टी के साथ-साथ एक सामाजिक परिवर्तन का एक मूवमेन्ट भी है। इसके साथ ही पार्टी के जमीनी स्तर से लेकर आगे की हर कमेटी में लगभग 50 प्रतिशत भागीदारी युवा वर्ग को देने व महिला वर्ग को भी सम्मान दिये जाने पर खास ध्यान दिया जाता रहा है। इसी कारण पार्टी की तमाम सभाआें में इन वर्गों की विशेष भागीदारी हर जगह देखने को मिलती है।

उन्होंने कहा कि बसपा जो कहती है वह करती है, इसी कारण से पार्टी लोगों को बरगलाकर उनका वोट हासिल करने वाले लोक लुभावन घोषणा पत्र भी चुनाव में जारी नहीं करती है, बल्कि सरकार बनने पर बेहतर कानून-व्यवस्था के साथ-साथ जनहित व जनकल्याण के काम करके दिखाती है। इसलिए पार्टी चुनावी घोषणापत्र जारी न करने के मामले में अपने पुराने रूख पर ही कायम है। 



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !