यूपी चुनाव से पहले प्रदेश में दंगा करा सकती है सपा-भाजपा: बसपा

You Are Here
यूपी चुनाव से पहले प्रदेश में दंगा करा सकती है सपा-भाजपा: बसपायूपी चुनाव से पहले प्रदेश में दंगा करा सकती है सपा-भाजपा: बसपायूपी चुनाव से पहले प्रदेश में दंगा करा सकती है सपा-भाजपा: बसपा

बुलंदशहर(इकबाल सैफी): अपने भाषणों को लेकर चर्चाओं में रहने वाले बसपा के राष्ट्रीय महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है। सिद्दीकी ने भाजपा और सपा पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि यूपी विधानसभा चुनाव 2017 से पहले दोनों पार्टियां मिलकर यूपी में बड़ा दंगा कराने वाली हैं। लोगों से अपील करते हुए उन्होंने कहा कि जनता को इन दोनों पार्टियों की साजिश पर पानी फेरते हुए गंगा जमुनी तहजीब की मिशाल कायम करनी है।

नसीमुद्दीन यहीं नहीं रुके उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर लोगों के साथ धोखा करने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि मोदी ने पहले कालेधन के कारोबारी विजय माल्या को देश से भगा दिया और फिर कालेधन का हवाला देते हुए नोटबंदी कर भारत में आर्थिक इमरजेंसी लगा डाली।

नोटबंदी से पूरा देश परेशान 
सिद्दीकी ने कहा कि नोटबंदी के बाद से ही देश की जनता अपना सारा काम छोड़कर बैंकों की लाईन में लगी है। दोपहर तक लाईन में लगने के बाद पता चलता है कि बैंक से नोट खत्म हो गए हैं। किसानों के पास बीज के लिए पैसे नहीं हैं। पैसे न होने की वजह से लोगों की शादियां नहीं हो पा रही हैं, लोग परेशान हैं। उल्टे प्रधानमंत्री मोदी जापान से देश की जनता का मजाक उड़ा रहे हैं कि हमने 1000 और 500 के नोट बंद कर दिया, लोग लाइन में लगे हैं। उन्होंने कहा कि देश के मजदूरों, किसानों को मोदी ने लाईन में लगा दिया और विजय माल्या व ललित मोदी को विदेश भगा दिया। इतना ही नहीं विजय माल्या के 1200 करोड़ और अडानी के 200 करोड़ रुपये को भी माफ कर दिया। उन्होंने कहा कि पार्टी अध्यक्ष मायावती और बसपा , कालाधन, आतंकवाद और भ्रष्टाचार के सख्त खिलाफ है। ये देश में नहीं रहना चाहिए। लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार ने देश में अच्छे दिन और मंहगाई कम करने जैसे बड़े-बड़े वादे किए थे लेकिन ढ़ाई साल बीत जाने के बाद भी इन्होंने अपना 20 प्रतिशत वादा भी नहीं पूरा किया है। 

दंगे होते नहीं बल्कि कराए जाते हैं
नसीमुद्दीन ने लोगों से कहा कि दंगे होते नहीं बल्कि कराए जाते हैं। अगर दंगे अपने आप होते तो बसपा के 4 साल के शासन में क्यों नहीं हुए। उन्होंने कहा कि प्रदेश में दंगे सपा-भाजपा मिलकर करा रही है। प्रदेश के अलग अलग जिलों में दंगे हुए हैं। मुजफ्फरनगर दंगे ने तो प्रदेश की गरिमा को तार तार कर दिया। दंगे के सताए लोगों ने गांव छोड़ दिया और कब्रिस्तानों में रहने को मजबूर हो गए। सपा सरकार ने वहां भी उन्हें नहीं बख्सा और उनके बनाए तंबुओं पर बुलडोजर चलवा दिया। नसीमुद्दीन ने लोगों से कहा कि बसपा ही महज एक ऐसी पार्टी है जिसके राज में कभी कोई दंगा नहीं हुआ है। साथ ही बसपा नेता ने कहा कि हम वो हैं कि 313 थे तो हमने भारत में झंडे गाढ़ दिए थे और अब करोड़ों होकर भी नाकमयाब हैं क्योंकि हमें सियासत नहीं करनी आती है। हमारे लिए एक ही पार्टी है और वो है बसपा।

UP Political News की अन्य खबरें पढ़ने के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें  

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You