बच्चों की मौत पर चौतरफा घिरी योगी सरकार, जानिए किसने क्या कहा?

  • बच्चों की मौत पर चौतरफा घिरी योगी सरकार, जानिए किसने क्या कहा?
You Are Here
बच्चों की मौत पर चौतरफा घिरी योगी सरकार, जानिए किसने क्या कहा?बच्चों की मौत पर चौतरफा घिरी योगी सरकार, जानिए किसने क्या कहा?बच्चों की मौत पर चौतरफा घिरी योगी सरकार, जानिए किसने क्या कहा?

गोरखपुर: गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कालेज में बच्चों की हुई दर्दनाक मौत पर योगी सरकार चौतरफा घिर गई है। विपक्ष ने केंद्र सरकार सहित योगी सरकार पर ताबड़तोड़ हमला बोला है। कांग्रेस ने इन मौतों का जिम्मेदार सीधे तौर पर यूपी सरकार को ठहराया है। साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से इस्तीफे की मांग की है। आइए जानते हैं इस दर्दनाक घटना पर किसने क्या कहा-

1-कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा, ‘‘हमें इस भयावह त्रासदी से बड़ा दुख हुआ है। हमें बच्चों के परिवारों के प्रति गहरी संवेदना है जो प्रशासन की लापरवाही के शिकार बने हैं। उत्तर प्रदेश सरकार इस अपराध का तत्काल संज्ञान ले और दोषियों पर मामला दर्ज कर कार्रवाई करे।’’

2-बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा, ‘‘ये घटना बहुत ही दुखद है। इसके लि‌ए मुख्यमंत्री को दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए और कोई कोताही नहीं बरतनी चाहिए। इतनी बड़ी घटना घटी है और माताओं की गोद उजड़ गई है। मैं मानती हूं कि उन्हें विभाग के मंत्री को बर्खास्त कर देना चाहि‌ए।’’

3-कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा, ‘भाजपा की अगुवाई वाली उत्तर प्रदेश सरकार इस त्रासदी के लिए जिम्मेदार है। उन्होंने ट्वीट किया, बहुत दुख हुआ। मेरी संवेदना ऐसे बच्चों के परिवारों के साथ है।’’

4-राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने बच्चों की मौत पर अफसोस जाहिर करते हुए ट्विटर पर लिखा, ‘‘गोरखपुर अस्पताल में मारे गये निर्दोष बच्चों की मौत की खबर सुनकर काफी मर्माहत हूं। यह योगी सरकार की अक्षमता और लापरवाही है। दोषियों को दंडित किया जाना चाहिए।’’

5-पूर्व मुख्यमंत्री व सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इस घटना के लिए प्रदेश सरकार को जिम्मेदार माना है। थोड़े ही अंतराल पर दो ट्वीट करके उन्होंने सरकारी मशीनरी पर हमला बोला। उन्होंने कहा, ‘‘मृतकों के परिजनों को लाश देकर भगा दिया गया। किसी भी मृतक का पोस्टमार्टम तक नहीं कराया गया। मेडिकल कॉलेज में मरीजों के भर्ती कार्ड भी गायब कर दिए गए हैं। यह अत्यंत दुखद है। इस मामले में दोषी लोगों पर कठोर कार्रवाई होनी चाहिए। सरकार को मृतक परिवारों को 20-20 लाख रुपये की मदद करनी चाहिए।’’ 

6-कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा, ‘‘इस घटना से देश आहत हुआ है। सरकार की कथित लापरवाही की वजह से बच्चों के परिवारों को दुख पहुंचा है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री और स्वास्थ्य सचिव को फौरन इस्तीफा देना चाहिए।’’  

7-नोबेल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी ने भी इस पर अपनी प्रतिक्रिया ट्विटर पर दी है। उन्होंने कहा, ‘‘बिना ऑक्सीजन के 30 बच्चों की मौत हादसा नहीं, हत्या है. क्या हमारे बच्चों के लिए आजादी के 70 सालों का यही मतलब है।’’

8-समाजवादी पार्टी के नेता रामगोपाल यादव कहा, ‘‘यूपी के इतिहास में बच्चों की मौत की इससे बड़ी घटना नहीं हुई है। गोरखपुर में जो अधिकारी तैनात हैं उन्हें किसी का डर नहीं है।’’  



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You