बच्चों की मौत के 24 घंटे बाद CM योगी ने तोड़ी चुप्पी

  • बच्चों की मौत के 24 घंटे बाद CM योगी ने तोड़ी चुप्पी
You Are Here
बच्चों की मौत के 24 घंटे बाद CM योगी ने तोड़ी चुप्पीबच्चों की मौत के 24 घंटे बाद CM योगी ने तोड़ी चुप्पीबच्चों की मौत के 24 घंटे बाद CM योगी ने तोड़ी चुप्पी

लखनऊ: गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में हुई बच्चों की दर्दनाक मौत के 24 घंटे बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चुप्पी तोड़ी है। योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि दोषियों को किसी भी हाल में बख्शा नहीं जाएगा। साथ ही उन्होंने कहा कि अगर आक्सीजन की कमी से मौत हुई है तो इस मौत का मतलब जघन्य अपराध है। 

और क्या कहा मुख्यमंत्री ने-
-9 तारीख को मैं खुद गया था बीआरडी मेडिकल कॉलेज और घूमकर लिया था जाएजा।
-चिकित्सा शिक्षा मंत्री आसुतोष टंडन हमारे साथ मौजूद थे।
-आक्सीजन से मौत का मतलब जघन्य अपराध।
-दोषियों को किसी भी हाल में बख्शा नहीं जाएगा। 
-आवश्यक सेवाओं में कोई कमी नहीं होने दी जाएगी।
-स्वास्थ्य राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल भी आई हुई हैं। हमारी इस विषय पर चर्चा हुई है। 
-सरकार द्वारा चलाए गए अभियान के अच्छे परिणाम मिले हैं। 
-मैंने अपने मंत्रियों से पूछा मौत के आंकड़े और कारण क्या हैं। 
-आप सब से मेरा आग्रह है कि एक संवेदनशील मामले में सही आंकड़े सामने आने चाहिए।
-इंसेफेलाइटिस के लिए हर अस्पताल में बेड आरक्षित।
-यूपी के 34 जिलों में इंसेफेलाइटिस का असर।
-कुछ पर कार्रवाई हुई है बाकी दोषी भी बख्शे नहीं जाएंगे।
-ऑक्सीजन की कमी से मौत का मामला जघन्य।
-ऑक्सीजन सप्लायर की भूमिका की जांच पर कमेटी गठित की है।
-हमारे मंत्रियों ने गोरखपुर जाकर तथ्य इकठ्ठा किए हैं।
-हमने कल ही इस पर न्यायिक जांच के आदेश दे दिए थे।
-मौत के सही आंकड़े, लापरवाही किस स्तर पर हुई, क्या ऑक्सिजन मौत की वजह है? इसकी अधिकारियों ने जांच की है।
-मीडिया में बच्चों की मौत को लेकर अलग-अलग आंकड़े जारी हुए हैं। 
-पीएम मोदी भी इस घटना से चिंतित। हमें आश्वस्त किया कि सभी सहायता केंद्र की तरफ से की जाएगी। 
-बीआरडी कॉलेज का सीएम बनने के बाद दो बार किया दौरा।
-इंसेफेलाइटिस के खिलाफ मुहिम की शुरुआत मैंने ही गोरखपुर से की थी। 


 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!